Open post

ध्यान या मेडिटेशन को जानें।। बुद्ध या स्वामी विवेकानन्द की तरह।।

Reading Time: 2 minutes

स्वामी विवेकानंद जी ने कहा था कि “किसी बात से डरो मत। तुम अद्भुत कार्य करोगे। जिस क्षण तुम डर जाओगे, उसी क्षण तुम बिल्‍कुल शक्‍तिहीन हो जाओगे”। “कभी मत सोचिए कि आत्मा के लिए कुछ असंभव है, ऐसा सोचना सबसे बड़ा विधर्म है। अगर कोई पाप है, तो वो यह कहना है कि तुम निर्बल हो या अन्य निर्बल हैं”।

जिंदगी की परेशानियों से नहीं डरना, हमेशा सबल रहना ही आसान भाषा में उत्तम मानसिक स्वास्थ्य है।

🙏अब बात इस पोस्ट की !!🙏 मेरे देश के युवाओ !! आप ही इस देश का कल हो, इस देश का भाग्य हो, यकीनन सौभाग्य हो।

आप विवेकानन्द या बौद्ध की फ़ोटो देखते होंगे, तो आपको इनमें ज्यादातर ध्यान या Meditation का Posture दिखता होगा। जैसे ऊपर दी गयी फोटो में है, साथियों ये क्या है ?? थोड़ा explain करता हूँ।
ये ध्यान या Meditation की State है जिसे State of Mindfulness भी कहा जाता है।
ध्यान आपके Mind को निर्मल करता है, पॉजिटिव emotions लाता है, आपकी efficiency बढ़ाता है, विचारों में पॉजिटिविटी के साथ ज्यादा clearity लाता है, आपके लक्ष्यों को हासिल करने का धैर्य आने लगता है, दुनिया को देखने का नजरिया बदलने लगता है, आप सत्य के ज्यादा पास पहुंचने लगते हो, यानि आप उन विचारधारोंओं को छोडने लग जाते हो जो वास्तव में अपनी जिंदगी में महत्व नहीं रखती

अतः इसके लिए The Youth Needs The Real Truth !! कहना ज्यादा सही होगा।।
Social media के दौर में सच्चाई तक पहुँचने का कष्ट करें, आपके मोबाइल, TV, यूट्यूब पे आने वाली हर एक सूचना को सही मानने से पहले अपनी तार्किक शक्ति का इस्तेमाल करें।।

धैर्य की बात करें, तो युवाओं के लिए ये बहुत जरूरी है, आपकी यही वो उम्र है जिसमें आप वो सभी स्किल सीख सकते हो जो आपके एवं आपके परिवार के ज़िंदगी भर काम आएगी, स्किल सीखने में सबसे बड़ा योगदान आपका ध्यान है, आज social media आपके ध्यान यानि फोकस का सबसे बड़ा शत्रु है। इसी लिए अगर आप मेडिटेशन करते हो तो आप अपने माइंड को कंट्रोल करोगे ना कि आपके social मीडिया कि नोटिफ़िकेशन। तभी विवेकानंद जी की इस बात पे आप चल पाओगे कि “उठो, जागो और तब तक नहीं रुको जब तक लक्ष्य ना प्राप्त हो जाए”।

तो आइए इस विडियो से जानते है, मेडिटेशन के फायदे , इसका बेसिक सिद्धांत एवं इसको करने की आसान विधि ।।

बोधिज़्म में ध्यान की विप्श्यना विधि के द्वारा मानसिक स्वास्थ्य को उतम करके, तार्किक सोच को बढ़ावा दिया जाता है, जो उस इंसान एवं उसके परिवार को अंधविश्वास के चक्करों से दूर कर, प्रगति के मार्ग में तीव्र गति से चलने को मजबूर कर देती है। आप ध्यान की विप्श्यना विधि के बारे में यहाँ क्लिक कर जान सकते हो। ये इतनी प्र्भावी है कि विप्श्यना करवाने वाले सेंटर किसी से फीस नहीं लेते, इससे होने वाले फ़ायदों को देखकर लोग उन्हे खुल के donate करते है।

खैर मुद्दे पे आयें तो ये मेरी पोस्ट यूथ के नाम है, आप स्वतंत्र भारत के नागरिक हो, अपने Mind को भी आजाद करो, सिर्फ आपका Mind (Power of Your Mind) ही है जो आपके लिए असीमित सम्भावनाये, अवसर की खोज कर सकता है।। इसका ध्यान रखिये।।
Be Mindful….. Be Meditate. जय भारत, जय संविधान।।

#Mindbook.😊 THANK-YOU !!

Scroll to top